BREAKING NEWS
Search

सेक्सटॉर्शन में ठगी के रुपये निकालने वाला ईमित्र संचालक गिरफ्तार

123

हैदराबाद में 52 वर्षीय व्यक्ति से ठगे गये थे 27.60 लाख रुपये, आरोपी को हैदराबाद पुलिस को सौंपा

भरतपुर 09 दिसम्बर। व्हाट्सएप वीडियो कॉल में हैदराबाद के व्यक्ति से न्यूड सेक्स चैट कर 27.60 लाख रुपये की ठगी करने के मामले में थाना कैथवाड़ा पुलिस ने गुरुवार को दबिश देकर ठगी के पैसे निकालने के आरोप में थाना क्षेत्र के धर्मशाला निवासी ईमित्र संचालक युसुफ मेव पुत्र आमीन को दस्तयाब कर साईबर टीम थाना साईबराबाद जिला हैदराबाद के हवाले किया है।
न्यूड वीडियो कॉल कर बनाया वीडियो, 3 दिन बाद साइबर सेल दिल्ली का अधिकारी बन दी धमकी
भरतपुर एसपी देवेंद्र कुमार विश्नोई ने बताया कि हैदराबाद (तेलगांना) के रहने वाले रतनकर (52) को फेसबुक पर संजना कुमारी के नाम से एक फ्रेंड रिक्वेस्ट आई। रिक्वेस्ट असेप्ट करने के बाद चैटिंग शुरू हुई। चेटिग करते हुये वाटसएप नम्बर लेकर कथित संजना ने वाटसएप पर बातें प्रारम्भ कर दी। 5 नवम्बर,2021 को व्हाट्स एप पर संजना कुमारी ने न्यूड होकर सेक्स चेटिंग की। इसके बाद 9 नवम्बर को रतनकर के मोबाईल पर विक्रम राठोड नाम के व्यक्ति का फोन आया जिसने स्वमं को साईबर सेल दिल्ली का अधिकारी बताया एवं कहा कि संजना कुमारी आत्महत्या करना चाहती है। आपके विरूध मुकदमा दर्ज होगा यदि आप बचना चाहते हो तो आप सेटलमेन्ट कर लो।
दोस्तो- रिश्तेदारो से उधार एवं बैंक से लोन लेकर ठगों को दिए 27.60 लाख रूपये
इससे भयभीत होकर रतनकर ने दोस्तो व रिश्तेदारो से उधार एवं बैंक से लोन लेकर 27 लाख रूपये ठगो द्वारा दिये गये विभिन्न खातो मे जमा करा दिये। 27 नवम्बर को ठगो ने रतनकर को फिर से कॉल कर सैक्स चैट वाली वीडियो विभिन्न सोशल मीडिया पर अपलोड करने की धमकी देकर पैसे मांगे। रतनकर ने फिर 60 हजार रुपये उनके बताये खाते मे डाल दिये।
लगातार धमकियां देने से परेशान होकर साइबर सेल हैदराबाद को दी रिपोर्ट
उसके बाद भी ठगों द्वारा बार बार धमकी देकर पैसे मांगने से परेशान होकर रतन कर ने घटना के सम्बंध मे साईबर थाना हैदराबाद मे प्रकरण दर्ज कराया।
अनुसंधान में कैथवाडा के युसूफ मेव द्वारा 1500000 रुपए के ट्रांजैक्शन करने पर भरतपुर पहुंची टीम
प्रकरण दर्ज कराने पर थाना साईबराबाद जिला हैदराबाद की टीम ने अनुसंधान किया तो विभिन्न खातो से ट्रासफर होते हुये पैसे का ट्राजेक्सन युसुफ मेव निवासी धर्मशाला के द्वारा स्वम द्वारा संचालित ईमित्र के माध्यम से करीब 15 लाख रुपये निकालने की जानकारी हुयी। इस पर हैदराबाद की साईबर टीम ने भरतपुर पहुंच एसपी देवेन्द्र विश्नोई से सम्पर्क किया। मामले की गंभीरता को देखते हुये एएसपी बुग लाल मीणा व सीओ मदन लाल जेफ के निर्देशन व एसएचओ रामनरेश मीणा के नेतृत्व में टीम गठित की गई।
गुरुवार को दबिश देकर आरोपी को किया दस्तयाब, हैदराबाद पुलिस को सौंपा
एसएचओ कैथवाड़ा ने हैदाराबाद साईबर टीम के पुलिस निरीक्षक श्रीकान्त की टीम से समन्वय स्थापित कर आसूचना एकत्रित कर यूसुफ मेव की लोकेशन के बारे मे पता लगाया। गुरुवार को दोनों टीमों ने दबिश देकर कैथवाडा गांव से ठगी की रकम निकालने वाले ईमित्र संलाचक यूसुफ मेव को दबोच लिया।
————



न्याय की अवधारणा को सशक्त बनाने हेतु समाचार पत्र न्याय स्तम्भ के माध्यम से एक अभियान चलाया जा रहा है। आइए अन्याय और भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने के लिए आप भी हमारा साथ दीजिये। संपर्क करें-8384900113


Leave a Reply

Your email address will not be published.