सघन शाकाहार, सदाचार एवं नशामुक्ति अभियान का समापन

193

जयपुर 05 अप्रैल 2023 (न्याय स्तंभ) विश्वविख्यात परम संत उज्जैन वाले बाबा उमाकान्त जी महाराज जो देश-दुनियां में जयगुरुदेव नाम का प्रचार करने के साथ-साथ जनमानस को शाकाहारी, सदाचारी, नशामुक्त, चरित्रवान एवं देशभक्त बनाने के लिए देश के कोने-कोने में जाकर वैचारिक परिवर्तन की अलख जगा रहे है। उनके आदेश से सम्पूर्ण भारत मे 23 मार्च से 5 अप्रैल तक भक्तों द्वारा शाकाहार एवं नशामुक्ति जनजागरण का एक विशेष अभियान चलाया गया।

संगत के मीडिया प्रभारी मुकुट बिहारी वर्मा ने मीडिया को बताया कि राजस्थान के सभी जिलों में गुरु के आदेश की पालना करते हुए सभी सत्संगी भाई बहनों, बुजुर्ग एवं छोटे बच्चों ने भी इस प्रचार अभियान में शामिल हुए। लाखों लोगों तक महाराज जी के भक्त सेवादारों द्वारा प्रभात फेरी, लिखाई, सतसंग, फ्लेक्स, बैनर स्टीकर लगाकर, पर्चें, सन्देश, वाहन शोभा यात्रा के माध्यम से सभी धर्म, जाती के लाखों लोगों से शाकाहारी बनने, शराब जैसे बुरे व्यसनों को त्याग करने की प्रार्थना की गई। अगर लोग शराब और मांस के सेवन से दूर नहीं हुए ,तो ऐसी -ऐसी बीमारियां और तकलीफें आएंगी जिनका कोई इलाज नहीं होगाl बड़े बड़ों के दिल- दिमाग फेल हो जाएंगेl
इस विशेष अभियान का 5 अप्रैल को समापन हुआ
वैसे वर्षभर महाराज जी के आदेश से लोगों को जीव दया करने हेतू प्रेरित करने के लिए शाकाहार प्रचार चलता रहता है, परन्तु इस बार बाबा उमाकान्त जी महाराज द्वारा 23 मार्च मुक्ति दिवस के उपलक्ष्य पर विशेष रूप से सघन शाकाहारी, नशामुक्ति प्रचार अभियान चलाने का आदेश था।

इस संदर्भ में जयपुर संगत द्वारा वृहत आज नई ढाणी एनबीसी से पैदल प्रभात फेरी निकाली गई जिसको हेरिटेज नगर निगम के वार्ड नंबर 39 के पार्षद हरमेन्द्र खोवल ने झंडी देकर रवाना किया। उन्होंने कहा उन्होंने कहा कि बाबाजी की बात कही सब सत्य हो गई है ,इसलिए सब लोग शाकाहारी रहे और शाकाहारी का प्रचार करें। इस अवसर पर बड़ी संख्या में संगत के लोगों ने गुलाबी वस्त्र धारण कर प्रार्थना कि हाथ जोड़कर विनय हमारी, तजो नशा बनो शाकाहारी।




न्याय की अवधारणा को सशक्त बनाने हेतु समाचार पत्र न्याय स्तम्भ के माध्यम से एक अभियान चलाया जा रहा है। आइए अन्याय और भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने के लिए आप भी हमारा साथ दीजिये। संपर्क करें-8384900113


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *