BREAKING NEWS
Search

झालावाड़-पंजाब पुलिस के वांछित बर्खास्त पुलिस इंस्पेक्टर को नाकाबंदी में साथी समेत पकड़ा

6

झालावाड़ 23 सितंबर 2022 (न्याय स्तंभ) जिले की रायपुर थाना पुलिस ने बुधवार को नाकाबंदी के दौरान कार सवार पंजाब पुलिस के वांछित बर्खास्त पुलिस इंस्पेक्टर परमजीत सिंह बाजवा और उसके साथी हरमीत सिंह को पकड़ने में सफलता हासिल की है। जिन्हें गुरुवार को पंजाब पुलिस को सौंप दिया गया। आरोपी इंस्पेक्टर 2 महीने से फरार चल रहा था, जिसके विरुद्ध फर्जी मुकदमा दर्ज कर 81 लाख रुपए हड़पने, मादक पदार्थ तस्करी, सरकारी पिस्टल समेत फरार होने समेत अन्य कई गम्भीर आरोप है।
जुलाई से शुरू हुई कहानी, निर्दोष को तस्करी में फंसा 81 लाख हड़पे
झालावाड़ एसपी ऋचा तोमर ने बताया कि इसी साल जुलाई महीने में नारकोटिक्स सेल फिरोजपुर कैंट में प्रभारी रहे इंस्पेक्टर परमिन्दर सिंह बाजवा, एएसआई अंग्रेज सिंह व हेड कांस्टेबल जोगेंद्र सिंह ने एक व्यक्ति को 86 लाख रुपयों के साथ पकड़ा था। तीनों पुलिसकर्मियों ने उस व्यक्ति के विरुद्ध एक किलो हेरोइन और 5 लाख रुपये का ड्रग मनी का केस बना दिया। विजिलेंस जांच में व्यक्ति को निर्दोष पाते हुए फर्जी मुकदमा बनाने व 81 लाख रुपए हड़पना पाया जाने पर पुलिसकर्मियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया तो तीनों पुलिसकर्मी फरार हो गए।
घर से ड्रग्स व नशीली दवा मिलने पर बर्खास्त हुआ
कुछ समय बाद एएसआई अंग्रेज सिंह व हेड कांस्टेबल जोगेंद्र सिंह को पंजाब पुलिस ने पकड़ लिया। पंजाब पुलिस ने इंस्पेक्टर परमिन्दर सिंह के घर व अन्य ठिकानों की तलाशी ली। जहां से भारी मात्रा में ड्रग्स व प्रतिबंधित नशीली दवाइयों की खेप बरामद कर मादक पदार्थ तस्करी के प्रकरण थाना फिरोजपुर कैंट, थाना कुलगढ़ी व फिरोजपुर पर दर्ज किया और उसे पुलिस विभाग से बर्खास्त किया गया। सीजेएम कोर्ट फिरोजपुर कैंट द्वारा गिरफ्तारी वारंट भी जारी किया गया।
गोवा में पंजाब पुलिस की भनक लगते ही महाराष्ट्र-एमपी होते हुए राजस्थान पहुंचा
एसपी तोमर ने बताया कि इस्पेक्टर बाजवा की गिरफ्तारी के लिए विजिलेंस ब्यूरो पंजाब, सीआईए फिरोजपुर व पंजाब पुलिस की कई टीमें पीछे लगी हुई थी। 21 सितंबर को पंजाब पुलिस के माध्यम से उन्हें इनपुट मिला कि गोवा में फरारी काट रहा इंस्पेक्टर पंजाब पुलिस की टीम की भनक पाकर अपने साथी के साथ लग्जरी कार से पुणे, महाराष्ट्र, इंदौर, मध्य प्रदेश होता हुआ राजस्थान में कोटा की तरफ आ रहा है, जिसके पास हथियार भी हो सकते हैं।
हथियार बन्द टीम ने नाकाबन्दी में साथी समेत दबोचा
इस पर मामले की गंभीरता व संवेदनशीलता को देखते हुए एसपी ऋचा तोमर ने स्वयं के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक चिरंजीलाल मीणा व सीओ अरुण शर्मा के सुपरविजन तथा थाना अधिकारी रायपुर भूपेश शर्मा के नेतृत्व में टीम को एक्टिव कर चँवली नाका मध्य प्रदेश सीमा से रायपुर कस्बे तक नाकाबंदी का जाल बिछाया। थाना रायपुर के सामने हथियारबंद नाकाबंदी की गई। नाकाबंदी के दौरान ब्रेजा कार में सवार संदिग्ध परमिन्दर व उसके साथी हरमीत सिंह से पूछताछ करने पर वे टीम से लड़ाई झगड़ा करने पर उतारू हो गए। जिन्हें शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार किया गया। इसके बारे में पंजाब पुलिस को सूचना दी गई।
गुरुवार को पंजाब पुलिस को सौंपा
दोनों आरोपियों को गुरुवार को पंजाब पुलिस की टीम को सौंपा गया। पकड़ा गया बर्खास्त इंस्पेक्टर परमिन्दर सिंह बाजवा पुत्र प्रीतम सिंह (52) मूलत थाना सिटी जिला कपूरथला हाल फिरोजपुर तथा साथी हरमीत सिंह सिद्धू पुत्र बलजिंदर सिंह (30) थाना वेरोनके जिला फाजिल्का हाल सेक्टर 47सी चंडीगढ़ के रहने वाले हैं।
क्लीन शेव कर पूरी तरह हुलिया बदला
फरारी के दौरान बर्खास्त इंसेक्टर बाजवा ने अपना हुलिया भी पूरी तरह बदल दिया। दाढ़ी मूछें क्लीन शेव कर सिर मुंडा लिया और सिक्ख वेशभूषा की पगड़ी हटा दी, जिससे आसानी से कोई पहचान नहीं सके।
विवादों से सुर्खियों में रहा है बर्खास्त इंस्पेक्टर
पकड़ा गया आरोपी बर्खास्त इंस्पेक्टर परमिंदर सिंह पंजाब राज्य में विभिन्न विवादों से सुर्खियों में रहा है। जिसके बारे में सरकारी पिस्टल व निजी लाइसेंसी रिवाल्वर सहित फरार हो जाने, सोशल मीडिया पर धमकाने जैसे कई गंभीर मामले सोशल मीडिया यूट्यूब व गूगल पर भी सुर्खियों में है।



न्याय की अवधारणा को सशक्त बनाने हेतु समाचार पत्र न्याय स्तम्भ के माध्यम से एक अभियान चलाया जा रहा है। आइए अन्याय और भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने के लिए आप भी हमारा साथ दीजिये। संपर्क करें-8384900113


Leave a Reply

Your email address will not be published.