जेसीबी प्राइस फॉर लिटरेचर ने छठे एडिशन के शॉर्टलिस्ट की घोषणा की

184

  • साल 2023 के शॉर्टलिस्ट में बंगाली, हिंदी और तमिल के 3 अनुवाद शामिल हैं।
  • तेजस्विनी आप्टे-रहम की पहली किताब और हंसदा सोवेंद्र शेखर के पहले अनुवाद ने शॉर्टलिस्ट में जगह बनाई है।
  • शॉर्टलिस्ट की घोषणा के बाद दिव्या सेठ शाह और वामिक सैफी ने इन किताबों का नाटकीय पाठन किया और फिर दयाम अली ने सारंगी और पंडित हरिहर शरण भट्ट ने सितार पर म्यूजिकल परफॉर्मेंस दिया।

जयपुर 20 अक्टूबर 2023 (न्याय स्तंभ) भारत में सबसे प्रतिष्ठित फिक्शन पुरस्कारों में से एक जेसीबी प्राइस फॉर लिटरेचर के छठे संस्करण की शॉर्टलिस्ट की घोषणा जयपुर स्थित जय महल पैलेस में की गई। नवंबर में होने वाले पुरस्कार समारोह से पहले आयोजित इस कार्यक्रम में लेखकों, अनुवादकों और शहर के पुस्तक प्रेमियों के समुदाय ने हिस्सा लिया। इस दौरान निर्णायक मंडल के सदस्य श्रीनाथ पेरूर, सोमक घोषाल और कावेरी नांबिसन ने 5 किताबों की शॉर्टलिस्ट की घोषणा की, जिनमें बंगाली, हिंदी और तमिल भाषाओं के तीन अनुवाद समेत कुल 5 किताबें हैं।

जेसीबी प्राइस फॉर लिटरेचर 25 लाख रुपये इनाम वाला अवॉर्ड है और यह हर साल किसी प्रतिष्ठित भारतीय लेखक को उनकी फिक्शन, यानी काल्पनिक कृतियों के लिए दिया जाता है। हर साल साहित्य निदेशक सामाजिक और बौद्धिक जगत से जुड़े प्रतिष्ठित लोगों को जूरी के रूप में नियुक्त करते हैं। निर्णायक मंडल का हर सदस्य प्राइस के लिए दर्ज किए गए हर उपन्यास को गहनता से पढ़ता है और उसे लॉन्गलिस्ट (10 में से), शॉर्टलिस्ट (5 में से) और विजेता चयनित करने के लिए पूरी तरह जिम्मेदार होता है।

जेसीबी प्राइस फॉर लिटरेचर 2023 की शॉर्टलिस्ट की घोषणा के बाद ऐक्टर दिव्या सेठ शाह के साथ ही कवयित्री और शोधार्थी वामिक सैफी ने शॉर्टलिस्टेड किताबों को पढ़ा। नाटकीय पाठन के दरमियां सारंगी पर दायम अली और सितार पर पंडित हरिहर शरण भट्ट की संगीतमय प्रस्तुति भी चलती रही। इस दौरान दर्शकों का भरपूर मनोरंजन होता रहा और उन्हें विविधताओं का आभास होता रहा।

2023 की शॉर्टलिस्ट में शामिल हैं-

तेजस्विनी आप्टे-रहम द्वारा लिखी गई द सीक्रेट ऑफ मोर (एलेफ बुक कंपनी, 2022)
मनोरंजन ब्यापारी द्वारा लिखी और वी. रामास्वामी द्वारा बंगाली से अनुवादित की गई द नेमेसिस (वेस्टलैंड बुक्स, 2023)
पेरुमल मुरुगन द्वारा लिखी गई और जननी कन्नन द्वारा तमिल भाषा से अनुवादित फायर बर्ड, (पेंगुइन रैंडम हाउस इंडिया, 2023)
विक्रमजीत राम द्वारा लिखी गई मंसूर (पैन मैकमिलन इंडिया, 2022)
मनोज रूपडा द्वारा लिखी गई और हंसदा सोवेंद्र शेखर द्वारा हिंदी से अनुवादित आई नेम्ड माय सिस्टर साइलेंस (वेस्टलैंड बुक्स, 2023)

2023 ज्यूरी के अध्यक्ष श्रीनाथ पेरुर ने कहा कि हमारी शार्टलिस्ट मीटिंग में 10 में से किन्हीं 5 किताबों को सेलेक्ट करना मुश्किल था, क्योंकि हर किताब अपने आप में बेहतरीन थी। इस 10 की लंबी लिस्ट में हर एक बुक गंभीर शार्टलिस्ट में शामिल होने की हकदार थी, जिसे ज्यूरी के कम से कम एक सदस्य ने शार्टलिस्ट किया था, लेकिन आखिरकार एक कलेक्टिव फैसले में हमने वो 5 किताबों का सेलेक्शन किया, जिसे ज्यूरी मेंबर अंतिम 5 में चाहते थे। किसी भी एक बुक को लिस्ट से हटाने का फैसला आसान नहीं था।

जैसे ही विनर के ऐलान का वक्त नजदीक आया, तो साहित्यिक निदेशक, मीता कपूर ने कहा कि साहित्य के लिए जेसीबी प्राइस 2023 की 5 शार्टलिस्ट बुक भारत की साहित्यिक परिदृश्य की विविधता के हर पहलू को दर्शाती हैं। हर कहानी अपने आप में एक मनमोहन शब्दों का नृत्य है, जो हमारी समृद्ध साहित्यिक विरासत का परिचय कराती है। हमारी पब्लिशर्स, बुकस्टोर्स और ऑनलाइन कम्यूनिटी का इन तरह की आवाजों को आगे बढ़ान में अमूल्य योगदान रहा है। जैसे आप इन बुक्स की गहराई में उतरेंगे, तो आपको अपनी साझा इंसानी यात्रा की खोज की झलकियां दिखेंगी और आप बेशुमार भावनाओं और प्रतिध्वनित कहानियों को पाएंगे।

जेसीबी प्राइस फॉर लिटरेचर 2023 के विजेताओं की घोषणा 18 नवंबर को की जाएगी और उन्हें 25 लाख रुपये कैश प्राइस दिया जाएगा। विजेता के लिए प्रविष्टि अगर अनुवादित है, तो अनुवादक को 10 लाख रुपये का अतिरिक्त कैश प्राइस दिया जाएगा। इसके साथ ही शॉर्टलिस्ट में शामिल पांचों लेखकों को एक-एक लाख रुपये देकर सम्मानित किया जाएगा और शॉर्टलिस्टेड पीस अगर अनुवादित है तो फिर अनुवादक को 50,000 रुपये मिलेंगे।



न्याय की अवधारणा को सशक्त बनाने हेतु समाचार पत्र न्याय स्तम्भ के माध्यम से एक अभियान चलाया जा रहा है। आइए अन्याय और भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने के लिए आप भी हमारा साथ दीजिये। संपर्क करें-8384900113


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *