BREAKING NEWS
Search

जयपुर-राधाष्टमी धूमधाम से मनाई

32

जयपुर 4 अगस्त 2022 (न्याय स्तंभ) श्री कृष्ण जन्माष्टमी के 15 दिन बाद राधा रानी का प्राकट्य उत्सव राधाष्टमी मनाया जाता है। इस अवसर पर हरे कृष्ण मूवमेंट जयपुर के जगतपुरा स्थित श्री कृष्ण बलराम मंदिर द्वारा भव्य आयोजन किया गया। इस अवसर पर श्री राधा रमन जी को नई पोशाक से सजाया गया एवं गर्भगृह को सुंदर रंगीन फूल बंगले से सजाया गया।

राधाष्टमी भाद्र मास (अगस्त-सितंबर) के शुक्ल पक्ष की अष्टमी (शुक्ल पक्ष की अष्टमी) को मनाई जाती है। यह भक्तों के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण त्योंहार है। राधारानी पूरे ब्रह्मांड की माता हैं और इस शुभ दिन पर भक्त उनसे कृष्ण-भक्ति का आशीर्वाद देने की प्रार्थना करते हैं।

तब पहली बार राधा ने दुनिया देखी
जब वृषभानु महाराज ने नंद बाबा के पुत्र श्रीकृष्ण के चर्चे सुने तो वह खुद अपनी पुत्री राधा जी को गोद में लेकर गोकुल आए। कहा जाता है कि तब तक राधा जी के नेत्र बंद ही रहे थे। वह घुटने के बल चलते हुए बालकृष्ण के पास पहुंचीं तभी राधा जी के नेत्र खुल गए और उन्होंने अपने जन्म के बाद अपने नेत्रों से प्रथम दर्शन श्री कृष्ण के ही किए।

मंदिर के अध्यक्ष अमितासना दास ने बताया कि राधाष्टमी के दिन श्री राधा रमन जी को नवीन पोशाक धारण करवाए गए एवं फूलों से विशेष श्रंगार किया गया। दोपहर 12 बजे ठाकुर जी को 108 विशेष भोग अर्पित किये गये। इस अवसर पर विशेष भजन राधिका अष्टकम गाया गया, श्री राधा रमन जी का विभिन्न प्रकार के फूलों एवं फलों के रस एवं पंचामृत से अभिषेक किया, साथ ही विशेष कथा एवं महाआरती की गयी एवं आखिर में पुष्प वर्षा के साथ पालकी उत्सव मनाया गया जिसमें सैकड़ों भक्तगण मौजूद रहे।



न्याय की अवधारणा को सशक्त बनाने हेतु समाचार पत्र न्याय स्तम्भ के माध्यम से एक अभियान चलाया जा रहा है। आइए अन्याय और भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने के लिए आप भी हमारा साथ दीजिये। संपर्क करें-8384900113


Leave a Reply

Your email address will not be published.