इसको घर में रखने से मिलेंगे चमत्कारी लाभ…

480

प. नीरज शर्मा

न्याय स्तंभ धर्म विशेष

ज्योतिष लाभ लेने के लिए संपर्क करें-8384900113

16 दिसंबर 2022 (न्याय स्तंभ) ज्योतिषशास्त्र में वैसे तो हर चीज का अपना महत्व बताया गया है लेकिन मोर पंख का काफी महत्व है। इसे नवग्रह का प्रतीक भी माना जाता है, जिस कारण इससे कुंडली के कई दोष दूर होने के साथ ही वास्तु दोष भी दूर होते हैं। दरअसल ऐसी मान्यता है कि मोर पंख आपके आसपास रहने से वहां नकारात्मक शक्तियों का प्रभाव कम होता है।
ऐसी मान्यता है कि इस बारे में भगवान शिव ने एक बार माता पार्वती को शक्तिशाली व तपस्वी संध्या नामक असुर की कथा सुनाई थी। उन्होंने बताया कि संध्या नामक असुर ने अपनी घोर तपस्या से शिवजी को प्रसन्न कर कई तरह की शक्तियां वरदान में प्राप्त कर लीं थीं। जिसके बाद भगवान विष्णु के भक्तों पर अत्याचार करने के साथ ही उसने स्वर्ग पर आधिपत्य जमाकर, सभी देवी-देवताओं को कैद कर लिया। जिसे परास्त करने के लिए सभी देवी-देवता व नवग्रह मोर पंख में विराजित हो गए। जिससे उस असुर का वध हुआ और तभी से मोर पंख को पूजनीय-पवित्र माना जाने लगा।

कैसे मिलेगा लाभ…
1 . भगवान कृष्ण के मुकुट पर विद्यमान मोर पंख को सौभाग्य का प्रतीक माना जाता है। इस कारण से यदि मोर का पंख आप अपने घर में सही जगह रखते हैं तो आपको लाभ होता है। जैसे अगर आपको काफी समय से किसी कार्य को पूरा करने में लगातार रुकावटों का सामना करना पड़ रहा है तो आप अपने बेडरूम की पूर्व या दक्षिण-पूर्व दिशा में मोर पंख लगाएं। ऐसे उस कार्य के पूर्ण होने के योग बनते नजर आ सकते हैं।
2.अगर आप अपने व्यापार में उन्नति का मार्ग प्रशस्त करना चाहते हैं तो अपने ऑफिस या दुकान में दक्षिण-पूर्व दिशा में मोर पंख लगाकर देखें। शास्त्र के अनुसार, ऐसे घर-परिवार की आर्थिक समस्या हल होने के साथ ही पैसों की तंगी में कमी आती है।

3. ऐसी मान्यता है कि मोर पंख में शत्रुओं को भी मित्र बनाने की शक्ति छुपी होती है। माना जाता है कि यदि आप महाबलि हनुमान के मस्तक से सिंदूर लेकर जिस व्यक्ति से आपके संबंधों कुछ कट्टू चल रहे हैं, उसका नाम पंख पर लिखें। उसके बाद रातभर मंदिर में रखने के बाद उसे अगली सुबह जल में प्रवाहित कर दें तो आपको अचूक लाभ मिलता है।
4.वास्तुशास्त्र में घर के मुख्य द्वार की काफी अहमियत बताई गई है। इस कारण से हमेशा घर के मुख्य द्वार पर सफाई रखने के साथ ही वहां यदि आप श्रीगणेश की मूर्ति के साथ मोर पंख सजाते हैं तो ऐसी मान्यता है कि घर से हर प्रकार का वास्तु दोष दूर हो जाता है।
5.विद्यार्थियों के कमरे या पुस्तकों के बीच मोर पंख रखने से उनकी स्मरण शक्ति तेज होने के साथ ही एकाग्रता बढ़ने से लाभ होता है। इसके साथ ही शास्त्रों में बताया गया है कि मंत्र जप की माला को हमेशा मोर पंखों के बीच रखना चाहिए
6.ज्योतिषशास्त्र में मोर पंख को काफी पवित्र वस्तु माना जाता है। इस कारण से ऐसा कहा जाता है जो जातक किसी भी रूप में अपने साथ मोर पंख को रखें जहां घर से निकलते-घुसते समय आपकी नजर पड़े। ऐसा करने से घर से नकारात्मक शक्तियों का ह्रास होता है और सकारात्मक ऊर्जा के संचार में वृद्धि होती है। ऐसे में व्यक्ति का भाग्य हमेशा उसका साथ देता है। सुबह उठ कर आप तकिए के नीचे रखे मोर पंख के दर्शन जरूर करें इससे आपको लाभ होगा और आप सकारात्मक ऊर्जा से भरे रहेंगे।

7. ग्रहों के अशुभ प्रभाव होने पर पोरपंख पर 21 बार ग्रह का मंत्र बोलकर पानी का छींटें दें, और इसे श्रेष्ठ स्थान पर स्थापित करें जहां से यह दिखाई दे। 
8.आर्थिक लाभ के लिए किसी मंदिर में जाकर मोरपंख को राधा कृष्ण के मुकुट में लगाऐं और 40 दिन बाद इसे लाकर तिजोरी में रख दें।
9.बुरी नजर से बच्चों को बचाने के लिए नवजात बालक को मोरपंख चांदी के ताबीज में पहनाएं।
10.यदि आपका बच्चा बहुत रोता है, चिढ़ता है या जिद्दी है, तो छत के पंखों पर पंख पर लगाने से जिद कम हो जाती है।। बुरी नजर से बच्चों को बचाने के लिए नवजात बालक को मोरपंख चांदी के ताबीज में पहनाएं
11.यदि आपका बच्चा बहुत रोता है, चिढ़ता है या जिद्दी है, तो छत के पंखों पर पंख पर लगाने से जिद कम हो जाती है।
12.अगर आप दुश्मनों से परेशान हैं तो मोरपंख पर हनुमान जी के मस्तक का सिंदूर, मंगलवार शनिवार उनका नाम लेकर लगाएं और सुबह बिना मुंह धोए इसे बहते हुए पानी में बहा दें। 
 
 13.घर के मुख्य द्वार पर मोरपंख को लगाना हमेशा शुभ होता है, इससे नकारात्मक ऊर्जा और जीव जन्तु घर में प्रवेश नहीं कर पाते। इसके लिए 3 मोरपंख लगाकर ऊं द्वारपालाय नम: जाग्रय स्थापयै स्वाहा मंत्र लिखें और नीचे गणेश जी की मूर्ति लगाएं। 
 
14.आग्नेय कोण में मांरपंख लगाने से घर के वास्तु दोष को ठीक किया जा सकता है। इसके अलावा ईशान कोण में कृष्ण भगवान की फोटो के साथ मोरपंख लगाएं।

15. यदि आपके घर में नेगिटिविटी है एंव तरक्की में बाधाएं आ रही हैं तो ऐसे में आप घर के मुख्य द्वार पर गणेश जी की प्रतिमा रख दें। इसके साथ ही दो मोरपंख भी रखें। यह उपाय करने से वास्तु दोष दूर होगा साथ ही तरक्की के नए रास्ते खुलेंगे।
16.किसी इंसान की कुंडली में राहु दोष की शिकायत है तो ऐसे में व्यक्ति को एक ताबीज में मोरपंख बांधकर अपने दाहिने बाजू में पहन लेना चाहिए। इससे दोष तो खत्म होगा है साथ ही कार्यो में आ रही पेरशानियों का भी निवारण होगा।
17.अगर पति-पत्नी के बीच ज्यादा तनाव रहता है उनमें आपस में बात नहीं होती तो उनके बेडरूम के पूर्व या दक्षिण-पूर्व दिशा में मोर पंख रख देना चाहिए। ये उपाय कर लेने से उनके संबंध जल्दी ही बेहतर हो सकेंगे।


18.नवजात शिशु को बहुत जल्दी-जल्दी नजर लग जाती है। यदि आप अपने बच्चे का नजर से बचाव करना चाहते हैं तो ऐसे में आप एक चांदी के ताबीज में मोर पंख भरकर बच्चे के सिरहाने के पास में रख दें। ऐसा करने से बच्चे का नजर लगने से बचाव होगा साथ ही वह डरेगा नहीं ।

19 .मोरपंख से दुश्मन पर भी जीत हासिल कर सकते हैं। किसी विशेष व्यक्ति से परेशान हैं तो मंगलवार या शनिवार को मोर पंख पर हनुमान जी के मस्तक का सिंदूर से उसका नाम लिखें। रातभर इसे पूजा स्थान पर रखें और फिर अगली सुबह बहते पानी में प्रवाहित कर दें. ध्यान रखें ये प्रक्रिया गुप्त तरीके से करें। इस उपाय से दुश्मन भी दोस्त बन जाता है।

20. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार श्रीकृष्ण ने भी कालसर्प दोष से मुक्ति पाने के लिए मोरपंख मुकुट में धारण किया था.मोर की सर्प से शत्रुता है इसलिए कालसर्प दोष से ग्रसित लोगों को 7 मोर पंख तकिए के कवर में डालकर उस पर सोएं. ये टोटका कालसर्प दोष दूर करने में कारगर है
21.वास्तु शास्त्र के अनुसार, आर्थिक स्थिति को मजबूत रखने के लिए मोर पंख को दक्षिण दिशा में तिजोरी के अंदर खड़े करके रखें। ऐसा करने से कभी भी धन की कमी नहीं होगी। कुंडली से राहु दोष को कम करने के लिए मोरपंख को घर की पूर्व या फिर उत्तर-पश्चिम दिशा की ओर रखना शुभ होगा
22.यदि मोर का पंख घर के पूर्वी और उत्तर-पश्चिम दीवार या अपनी जेब व डायरी में रखा हो तो राहू कभी भी परेशान नहीं करता है। मोरपंख की पूजा करे या हो सके तो उसे हमेशा अपने पास रखे। मोरपंख को घर में रखने से परिवार के सदस्यों की सेहत भी अच्छी रहतीहै। घर के मुख्य द्वार पर 3 मोरपंख लगाकर ‘ॐ द्वारपालाय नम: जाग्रय स्थापयै स्वाहा’ मंत्र लिखें और नीचे गणेश जी की मूर्ति लगाएं।



न्याय की अवधारणा को सशक्त बनाने हेतु समाचार पत्र न्याय स्तम्भ के माध्यम से एक अभियान चलाया जा रहा है। आइए अन्याय और भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने के लिए आप भी हमारा साथ दीजिये। संपर्क करें-8384900113


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *