सरपंच पति की हत्या के इनामी आरोपी गिरफ्तार

सरपंच पति की हत्या के इनामी आरोपी गिरफ्तार

 करौली 23 मई। अवैध वसूली व लूट के पैसों को लेकर हुए विवाद के बाद 27 अप्रेल को सरपंच पति की 05 गोली मारकर हत्या कर देने के मामले में पुलिस ने आरोपित तोता उर्फ विनोद पुत्र बाबू जाट निवासी चिनायटा थाना सूरौठ तथा घनश्याम पुत्र प्रेम सिंह जाट निवासी खीप का पुरा थाना सूरौठ जिला करौली को नंगला मई थाना लखनपुर जिला भरतपुर से गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।
     पुलिस अधीक्षक करौली मृदुल कच्छावा ने बताया कि 26 अप्रेल की रात थाना सूरौठ क्षेत्र के गांव चिनायटा से सरपंच पति पप्पू उर्फ पुष्पेंद्र जाट बोलेरो गाडी लेकर तीन दोस्तों बबलेश जाट, तोता जाट एवं पुष्पेन्द्र के साथ शादी में गया था। शादी से लौटते समय बबलेश व पुष्पेंद्र को घर छोड़ने के बाद चिनायटा एवं नई बस्ती के रोड पर गोलियों से भून उसकी निर्मम हत्या कर बोलेरो गाडी, मोबाईल फोन, गले की सोने की चैन व पर्स लूट कर ले गये। मृतक के पिता रघुवीर जाट की रिपोर्ट पर तोता जाट एवं घनश्याम को नामजद कर थाना सूरौठ पर मुकदमा पंजीबद्व कराया गया।
     प्रकरण की गम्भीरता को देखते हुए करौली एसपी मृदुल कच्छावा ने स्वयं के सुपरवीजन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रकाश चन्द के निर्देशन में सीओ हिण्डौन सिटी किशोरी लाल के नेतृत्व में थानाधिकारी सूरौठ बालकृष्ण, डीएसटी प्रभारी यदुवीर सिंह एवं  प्रभारी साईबर सैल घनश्याम व चुनिन्दा पुलिसकर्मियों की टीमों का गठन किया।
     गठित टीमों ने सीसीटीवी फुटेजों को एकत्रित कर बारीकी से निरीक्षण जाकर हत्या में शामिल आरोपियों को चिन्हित किया। जिनकी गिरफ्तारी हेतु पुलिस टीमों द्वारा दिन-रात काॅम्बिग कर छुपे होने के सम्भावित स्थानों व शरण देने वालों के ठिकानों में दबिश दी गई। लगातार दी जा रही दबिशों से घबराकर आरोपी सरहदी राज्य हरियाणा व उत्तर प्रदेश में चले गये। जिस पर हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेष के मानेसर, रामपुरा गुडगांवा, नोएडा, होडसी, फिरोजपुर, मथुरा में मुलजिम घनष्याम व तोता के रिश्तेदारों एवं मिलने जुलने वालों तथा अन्य सम्पर्क सूत्रों के यहाॅ लगातार दबिशें दी गई। शनिवार को मुखबिर की सूचना पर आरोपी घनश्याम जाट एवं तोता उर्फ विनोद जाट को भरतपुर से गिरफ्तार कर लिया गया। 
     गिरफ्तार आरोपितों ने बताया कि मृतक उनका दोस्त था। पूर्व में की गई अवैध वसूली ओर लूट के पैसों को लेकर उनका विवाद चल रहा था। इसी बात पर 27 अप्रेल की सुबह करीब 3 बजे उनमें कहा सुनी हो गई जिस पर उन्होंने मिलकर पप्पू उर्फ पुष्पेन्द्र की कट्टों से 05 गोली मारकर हत्या कर दी।