सात माह की बच्ची को बचाने के लिए पीएम और सीएम को पत्र

सात माह की बच्ची को बचाने के लिए पीएम और सीएम को पत्र

सोनिया जैन

जयपुर। 25 मई.  सम्पूर्ण शराब बंदी आंदोलन की राष्ट्रीय अध्यक्षा पूनम अंकुर छाबड़ा ने बीकानेर की सात माह की बच्ची नूर फातिमा के इलाज के लिए प्रधानमंत्री और प्रदेश के मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर बच्ची की जान बचाने का आग्रह किया है
   बीकानेर के चूनगरान मोहल्ले की सात महीने की बच्ची नूर फातिमा को "एसएमएन" नामक बीमारी है और इसके इलाज के लिए 16 करोड़ के ज़ोलगेन्स्मा इंजेक्शन की सख्त जरूरत है। अगर जल्द ही नूर फातिमा को यह इंजेक्शन नहीं लगता तो नूर की जान को खतरा भी हो सकता है, नूर फातिमा का आधा शरीर काम नहीं कर रहा है। 
समय पर दवा न मिलने से उसकी परेशानी बढ़ सकती हैै और नूर फातिमा के पिता जीशान अहमद मजदूरी का काम करते हैं, वह इतना पैसा नहीं कमा सकते कि नूर फातिमा के लिए 16 करोड़ रुपये का इंजेक्शन खरीद सकें। 
  पूनम अंकुर छाबडा ने प्रधानमंत्री और प्रदेश के मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर इस बच्ची की जान बचाने के लिए इंजेक्शन की व्यवस्था करने में सहयोग का आग्रह किया है।
पूनम अंकुर छाबड़ा लगातार अपने संगठन के माध्यम से नूर की मदद करवा रही है पूनम अंकुर छाबड़ा की अपील के बाद देश भर से समाज सेवी लोग नूर के पिता के एकाउंट में अपना सहयोग भेज रहे हैं।