गम्भीर अपराधों पर पीएचक्यू सख्त

गम्भीर अपराधों पर पीएचक्यू सख्त

चित्तौड़गढ़ मामले में संदिग्ध हिरासत में और सिरोही प्रकरण अभियुक्त गिरफ्तार
जयपुर 14 जून। राज्य में घटित बड़ी घटनाओं में पुलिस मुख्यालय ने सख्त रुख अपना रखा है। पिछले दिनों महानिदेशक पुलिस एम एल लाठर ने कानून हाथ में लेने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिये थे। 

अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस अपराध डॉ रवि प्रकाश मेहरड़ा द्वारा पुलिस मुख्यालय स्तर पर गम्भीर अपराधों की लगातार मोनिटरिंग की जा रही है।

एडीजी मेहरड़ा ने चित्तौड़गढ़ व सिरोही जिले में घटित दो बड़ी घटनाओं में पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई का ब्यौरा देते हुए बताया कि 13 और 14 जून की मध्य रात्रि में जिला चित्तौड़गढ़ में भीलखण्डा चौराहे पर दो व्यक्ति कुछ गौवंश को लेकर मध्य प्रदेश जा रहे थे । उग्र भीड़ द्वारा हमला करने से एक व्यक्ति बाबू पुत्र धन्ना भील (25) की इलाज के दौरान अस्पताल में मौत हो गई और दूसरा पिंटू पुत्र वर सिंह भील गम्भीर घायल हो गया। 

डॉ मेहरड़ा ने बताया कि इसमें हत्या का मुकदमा दर्ज कर चित्तौड़गढ़ पुलिस ने अब तक 7-8 व्यक्तियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। शेष अभियुक्तों को चिन्हित कर इसमें कड़ी कार्यवाही की जाएगी ओर उन्हें जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। आईजी रेंज उदयपुर सत्यवीर सिंह सहित तमाम आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं ओर पूरी स्थिति पर उनकी नजर है।

एडीजी क्राईम ने जिला सिरोही के मामले में बताया कि 23 नवंबर 2020 को एक दुष्कर्म का प्रकरण दर्ज हुआ था। प्रकरण में अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया गया था और वह ज्यूडिशल कस्टडी में 6 महीने रहा व अभी जमानत पर बाहर  आया था। अभियुक्त 12 जून को पीड़ित महिला के घर गया और चाकू से वार कर महिला की हत्या कर दी। उन्होंने बताया कि इस मामले में हत्या का मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने त्वरित कार्रवाई कर अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया है।