जयपुर की वैदेही पारीक ने जीता गोल्ड

जयपुर की वैदेही पारीक ने जीता गोल्ड

जयपुर। न्याय स्तंभ.हमारे देश की बेटियां आज बेटों से भी आगे निकल रही है और अपने माता—पिता का नाम रोशन कर रही हैं। कहते हैं प्रतिभा बचपन से ही दिखने लगती है जरूरत है उसको पहचान कर संवारने की। राजस्थान के चौमूं स्थित नायन—अमरसर के रहने वाले अर्जुन पारीक एवं उनकी पत्नी रंजना पारीक ने अपने बच्चों की प्रतिभा को बचपन से ही संवारने का कार्य किया । वे अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा के साथ—साथ खेलों में भी अपना टेलेंट दिखाने का पूरा माहौल प्रदान कर रहे हैं।उनके बच्चे भी उनके ​इस विश्वास पर खरे उतर रहे हैं। अपने माता—पिता की लाड़ली वैदेही जो बचपन से ही शरारती रही है लेकिन किसी भी कार्य का समर्पण भाव से करने का उसका जज्बा उसको खेलों में आगे ले जा रहा है।

वैदेही जयपुर में डीएवी सीनियर सैकंडरी स्कूल की छ़ात्रा है। उन्होंने अभी हाल ही में संपन्न आॅनलाइन वुशु चैम्पि​यनशिप में स्वर्ण पदक प्राप्त किया है। कोरोना महामारी के चलते वुशु खिलाड़ियों को शारीरिक और मानसिक फिट रखने के लिए राज्य वुशु संघ के तत्वाधान में 3 व 4 मई को आयोजित राजस्थान सीनियर,जूनियर एवं सब जूनियर आॅननलाइन स्टेट प्रतियोगिता का सोमवार को समापन हुआ। कार्यक्रम के मुख्य ​अतिथि राज्य के कृषि मंत्री लालचंद कटारिया रहे।टूर्नामेंट के निदेशक राजेश टेलर ने बताया कि जयपुर ने 15 स्वर्ण,6 रजत,कांस्य पदक एवं 94 अंकों के साथ प्रथम स्थान पर रहा।सब जूनियर बालिका वर्ग में वैदेही पारीक को गोल्ड मैडल मिलने पर डीएवी स्कूल के डायरेक्टर मनोज अग्रवाल ने भी बधाई दी।