ठगी का अनोखा तरीका, 17 लाख की हेरफेर आई सामने

ठगी का अनोखा तरीका, 17 लाख की हेरफेर आई सामने

भरतपुर। (कार्यालय संवाददाता) विभिन्न सरकारी योजनाओं का फायदा दिखा ग्रामीण अनपढ़ व्यक्तियों का बैंकों में खाता खुलवा ओएलएक्स पर ठगी करने वाले जालसाजों को उन खातों को 20 प्रतिशत कमीशन पर उपलब्ध कराने वाले एक आरोपित को जिले की थाना जुरहरा पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। गिरफ्तार आरोपित सब्बीर मेव पुत्र रजाक मेव थाना क्षेत्र के सहवन गांव का रहने वाला है। प्रारंभिक जांच में अभी 17 लाख के हेरफेर की बात सामने आई है।
     भरतपुर एसपी देवेन्द्र कुमार विश्नोई ने बताया कि गिरफ्तार सब्बीर मेव ने गांव सहसन के ही गुरविन्दर सिंह का एक साल पहले  प्रधानमंत्री स्वच्छ भारत योजना के तहत 12 हजार रुपये शौचालय निर्माण के लिए दिलवाने का कह जुरहरा स्थित पीएनबी बैंक में खाता खुलवा दिया। जिसमें उसने अपने मोबाइल नम्बर दिये थे। बैंक खाता की डिटेल प्राप्त की गई तो इस बैंक खाते में खाता खुलने के दो माह के अन्दर करीब 17 लाख रूपये का ट्रांजेक्शन हुआ मिला। जो अलग-अलग नेफ्ट आई.डी. द्वारा होना पाया गया। इस खाते को क्राईम ब्रांच भोपाल म.प्र. द्वारा फ्रीज कराया गया है। 
    एसपी विश्नोई ने बताया कि सम्पूर्ण जांच में सामने आया कि सब्बीर मेव ग्रामीण लोगों को विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाने का झांसा देकर फर्जी कागजातों से ली गई सिम का नम्बर उन बैंक खातों में डालकर ओएलएक्स पर ठगी करने वाले संगठित गिरोह के सदस्यों को 20 प्रतिशत कमीशन पर उपलब्ध कराता है।
       उन्होंने बताया कि विगत दिनों समाचार पत्र में प्रकाशित खबर "मेवात में ओएलएक्स ठगी के प्रकरण" के  सम्बन्ध में एएसपी डीग बुगलाल मीणा व सीओ कामां प्रदीप सिंह यादव को निर्देश दिये गये थे। जिस पर थानाधिकारी जुरहरा राजवीर सिंह व टीम ने यह कार्रवाई की।